Raw Herbs

Raw Herbs

Health Benefits of Jamun Seeds powder
Jamun plays a huge role in its native region, having wide cultural reference in Ayurvedic medicine, mythology and cooking .Scientific name of jamun is "Syzygium cumini".Jamun Seed is very effective as it contains  glycoside jamboline and alkaloid jamboline which prevents the conversion of starch into sugar and this benefits in controlling blood sugar level in body.Health benefit of jamun seed powder-Treating Diabetes : Jamun seed contain alkaloid which help in keeping blood glucose level manageable .Lower Blood Pressure: Regular consumption of Jamun seed powder can lower the blo..
0 comments on this article - view comments
Medicinal uses of Hadjod Powder
Hadjod (Cissus Quadrangularis) is an Ayurvedic Herb used for strengthening bone and joint, and promoting bones growth. It enhances  the rate of fracture healing as it increases the bone minerals. In addition to its use in bone and joint disorder, it is also used to treat loss of appetite, indigestion, internal bleeding, intestinal worm, gout, and leucorrhea .Sanskrit name of Hadjod is Asthisamharaka, which means bone setter, in Ayurveda. Fresh juice of Hadjod plant in a dosage of 20ml twice a daily is used to accelerate fracture healing rate and restoring the bone mass in several dis..
0 comments on this article - view comments
बादाम के फायदे -
बादाम एक प्रकार का बीज होता है जो बादाम के पेड़ पे लगता है , इसकी साइज़ भी अलग अलग होती है,ओसत रूप से रूप से इसकी साइज़ मध्यम आकार के बोर जेसी होती है, कुछ खाने में खारी होती तो कुछ मीठी भी होती है. माना जाता है की इरान और इराक की बादाम थोड़ी ज्यादा गुणकारी होती है|बादाम के फायदे -याददाश्त बड़ाने में-आज कल कॉम्पीटिशन के जमाने में सब मैं  अच्छा दिमाग चाहिए,अगर आपको भी अपने दिमाग को तंदुरुस्त रखना है तो आपके लिए बादाम का सेवन करना बहुत फायदेमंद साबित होगा है, रात को सोते समय बादाम को पानी में भिंगो दे फिर सुबह सुबह इसे खाए. कुछ लोग छिलका उतार  कर खाते है परन्तु माना जाता है की छिलके के साथ ..
0 comments on this article - view comments
सौंफ के फायदे और औषिधिक गुड़ -
1. खाँसी में फयदेमंद (Fennel Seeds for Cough and Cold)यदि आपको खाँसी की समस्या है तो शहद में 10 gm आद्रक और सौंफ मिलाकर सेवन करे। ऐसा कुछ दिनों तक करने से खाँसी में राहत मिलेगी।2. पेट दर्द में राहत (Fennel Seeds for Stomach Pain)पेट दर्द होने पर आप सौंफ को भूनकर सेवन करे, लाभ मिलेगा। जी मचलने पर भी सौंफ का सेवन करने से फयडा होता है।3. कमजोर आँखो के लिए (Fennel Seeds for Weakness Eyesight)कमजोर आँखो के लिए सौंफ फयदेमंद है। मिश्री और सौंफ को बराबर लेकर पीस ले और सुबह-शाम 1 से 2 चम्मच पानी के साथ ले। इससे आपकी आँखो की रोशनी बढ़ेगी और आँखो की कमज़ोरी दूर होगी।4. पाचन शक्ति बढ़ा..
0 comments on this article - view comments
अश्वगंधा से वजन बढ़ाने का तरीका-
वजन बढाने के लिए अश्वगंधा का खास उपयोगअश्वगंधा से वजन बढ़ाने का तरीकाआज हम बात करेंगे अश्वगंधा के फायदे के बारे में हालांकि आप ने कभी ने कभी अश्वगंधा के बारे में जरूर सुना होगा।अश्वगंधा संस्कृत का नाम है।अश्व से घोड़ा और गंधा से गंध या स्मेल मतलब होता है।शुद्ध अश्वगंधा से घोड़े जैसे गंध आती है। और उसका सेवन करने से आदमी में घोड़े जैसी शक्ति आती है इस लिए उसे अश्वगंधा से जाना जाता है।अश्वगंधा का मूल(root) का उपयोग होता है।जो ताजा हो तो आपको घोड़े जैसी गंध का अनुभव करंगे।पर्ण का देखाव सुअर का कान जैसा होता है।छोटा सा पेड़ होता है।आजकल जंगली के साथ खेत मे उगाई हुई अश्वगंधा बाजार में मिलती है।जंगली अश्व..
0 comments on this article - view comments
जौ के फायदे और औषिधिक गुड़ -
डायबिटीज को जड़ से ख़त्म करने में असरकारक है यह चीज़जैसे कि आप लोग जानते हैं कि आज के समय में पूरी दुनिया में बहुत सारे ऐसे लोग हैं जो अपनी डायबिटीज की बीमारी से बहुत ज्यादा परेशान है. वे लोग अपने डायबिटीज की बीमारी से छुटकारा पाने के लिए बाजार की तरह तरह की महंगी से महंगी दवाइयां खाते रहते हैं और नए-नए तरीके ढूंढते रहते हैं ताकि उन्हें अपनी डायबिटीज की बीमारी से छुटकारा मिल सके. लेकिन फिर भी उनके डायबिटीज की बीमारी जड़ से खत्म नहीं हो पाती है. लेकिन आज हम आपको एक ऐसे प्राचीन नुस्खे के बारे में बताने वाले हैं जिसका उपयोग करके आप की पुरानी से पुरानी डायबिटीज की बीमारी बहुत ही जल्दी जड़ से खत्म हो ..
0 comments on this article - view comments
शिलाजीत के फायदे गुण और नुकसान –
शिलाजीत हिमालय की पहाड़ियों और चट्टानों पर पाया जाने वाला एक चिपचिपा और लसलसा पदार्थ है जो काले या भूरे रंग का होता है। (Shilajit) शिलाजीत का उपयोग करीब पांच हजार सालों से हर तरह की बीमारियों के इलाज में किया जाता है। आयुर्वेद में शिलाजीत के फायदे और गुणों का अधिक महत्व है। इसमें कई तरह के मिनरल पाये जाते हैं जिस वजह से इसे कई असाध्य रोगों के इलाज में भी इस्तेमाल किया जाता है। शिलाजीत का सेवन पुरुषों में यौन शक्ति बढ़ाता है और बढ़ती उम्र को रोकता है। कहा जाता है कि शिलाजीत की खुराक का हजारों मर्ज की एक दवा के रूप में उपयोग किया जाता है। तो आइये जानते हैं कि शिलाजीत के सेवन से किन बीमारियों से ..
0 comments on this article - view comments
गिलोय के फायदे और औषिधिक गुड़ -
चर्म रोग, पीलिया, बवासीर, गठिया, खून की कमी जैसे 10 रोगों को जड़ से खत्म कर सकता है येइस का इस्तेमाल सांप या अन्य जहरीले जानवर के काटने पर शरीर में फैले विष को निकालने में भी किया जाता है।आजकल खराब लाइफस्टाइल, डाइट और एक्सरसाइज की कमी के चलते बवासीर, गठिया, चर्म रोग जैसी समस्याएं बहुत आम हो गई हैं। इनके इलाज के लिए लोगों को हजारों रुपए खर्च करने पड़ते हैं। इतना ही नहीं कई बार समस्या गंभीर होने पर आपको दवाओं का भी असर नहीं होता है। आयुर्वेद में इन समस्याओं से निपटने के लिए कई जड़ी बूटी उपलब्ध हैं। ऐसी ही एक जबरदस्त जड़ी बूटी है गिलोय। आयुर्वेद में इसे कई रोगों के लिए रामबाण इलाज माना गया है।1) जिन..
0 comments on this article - view comments
जामुन के फायदे और औषिधिक गुड़ -
जामुन नहीं बल्कि बीज से ठीक होंगी येे खतरनाक बीमारियां…जामुन जितना अच्छा खाने में होता है, उतना ही सेहत के लिए फायदेमंद माना गया है। लेकिन हम सभी जामुन खा के उसके बीज को फैक देते हैं। पर अब जो हम आपके बताएंगे उससे आप भी चौंक जाएंगे।दरअसल, आपको जानकर आश्चर्य होगा कि जामुन से कई ज्यादा फायदेमंद इसका बीज होता है। इसके बीज में इतने औषधिय गुण भरे हैं जो डायबिटीज ही नहीं कई अन्य गंभीर बीमारियों में दवा से ज्यादा बेहतर काम करते हैं।बता दें कि जामुन के बीज को सुखा कर इसका छिलका उतारकर छोटे-छोटे टुकड़े करके इन्हें पीस कर पाउडर बनाया जाता है और इस पाउडर को रोज खाली पेट खाने भर से कई रोग कंट्रोल में आ जा..
दालचीनी के फायदे-
***तेज दिमाग का पासवर्ड है 'दालचीनी'***इस डिजिटल जमाने में सबकुछ फास्ट होता जा रहा है। एक पासवर्ड नहीं बल्कि कई पासवर्ड याद रखने पड़ते हैं। जैसे फोन का पासवर्ड, नेट बैंकिंग का पासवर्ड, एटीएम (ATM Pin) का पासवर्ड और न जाने क्या-क्या। अब ऐसे में सवाल यह उठता है कि आखिर मस्तिष्क को तेज कैसे रखा जाए जिससे याददाश्त कमजोर न हो।दालचीनी के फायदे->दालचीनी में पोलीफेनॉल नाम का एंटीऑक्स‍िडेंट होता है जो दालचीनी को सुपरफूड की श्रेणी में शामिल करता है। इसके सेवन से शरीर में खराब कोलेस्ट्रॉल और ट्राइग्लीसिराइड्स का स्तर कम हो सकता है।>इसकी वजह से हाई फैटी फूड के प्रभाव को कम किया जा सकता है।>इसमें ..
0 comments on this article - view comments
Showing 71 to 80 of 114 (12 Pages)